वायुमंडल

DoThe Best
By DoThe Best July 1, 2017 12:53

वायुमंडल

वायुमंडल

वायुमंडल(Atmosphere) परिचय(Introduction):-

पृथ्वी को घेरती हुई जितने स्थान में वायु रहती है उसे वायुमंडल(Atmosphere) कहते हैं।वायुमंडल(Atmosphere) के अतिरिक्त पृथ्वी का स्थलमंडल ठोस पदार्थों से बना और जलमंडल जल से बने हैं। वायुमंडल कितनी दूर तक फैला हुआ है, इसका ठीक ठीक पता हमें नहीं है, पर यह निश्चित है कि पृथ्वी के चतुर्दिक् कई सौ मीलों तक यह फैला हुआ है। वायुमंडल के निचले भाग को (जो प्राय: चार से आठ मील तक फैला हुआ है) क्षोभमंडलउसके ऊपर के भाग को समतापमंडल और उसके और ऊपर के भाग को आयनमंडल कहते हैं। क्षोभमंडल और समतापमंडल के बीच के बीच के भाग को “शांतमंडल” और समतापमंडल और आयनमंडल के बीच को स्ट्रैटोपॉज़ कहते हैं। साधारणतया ऊपर के तल बिलकुल शांत रहते हैं।- wikipedia

1.पृथ्वी को चारों ओर सैकड़ों किमी. की मोटाई में लपेटने वाले गैसीय आवरण को वायुमंडल कहते हैं।
2. वायुमंडल(Atmosphere) गर्मी को रोक कर रखने में एक विशाल ‘काँच घरÓ का काम करता है,जो लघु तरंगों और विकिरण को पृथ्वी के धरातल पर आने देता है, परंतु पृथ्वी से विकरित होने वाली तरंगों को बाहर जाने से रोकता है। इस प्रकार वायुमंडल(Atmosphere) पृथ्वी पर सम तापमान बनाए रखता है।
3.वायुमण्डल(Atmosphere) की वायु के मुख्य अवयव नाइट्रोजन (78′), ऑक्सीजन (21′), ऑर्गन (0.93′) और कार्बन-डाई-ऑक्साइड (0.003′) हैं।
4.वायुमण्डल(Atmosphere) में जलवाष्प एवं गैसों के अतिरिक्त सूक्ष्म ठोस कणों की उपस्थित भी ज्ञात की गई है।
5. वायुमण्डल(Atmosphere) को निम्न 5 मण्डलों में विभाजित किया जाता है|

वायुमंडल(Atmosphere) की संरचना:-

वायुमंडल की परते/वायुमंडल(Atmosphere) परत:-

(A) क्षोभमण्डल
क्षोभमण्डल (troposphere)-यह वायुमंडल का सबसे निचला हिस्सा है। इसकी ऊँचाई धरातल से 12 किमी. तक है। इस मण्डल में जलवाष्प एवं धूल कणों कीअत्याधिकमात्रा के विद्यमान रहने के कारण वायुमण्डल के गर्म एवं शीतल होने की विकिरण, संचालन तथासंवाहन की क्रियाएँ सम्पन्न होती हैं।
(B) समताप मण्डल
समताप मण्डल (Stratosphere)क्षोभ सीमा के ऊपर औसत 50 किमी. की ऊँचाई पर समतापमण्डल का विस्तार पाया जाता है।इस मण्डल में 20 से 35 किमी. के बीच ओजोन परत की सघनता काफी अधिक है, इसलिए इस क्षेत्र को ओजोन मंडल भी कहाजाता है।

(c) मध्य मण्डल
मध्य मण्डल (Mesophere) -समताप मण्डल के ऊपर सामान्यत: 50 से 80 किमी. की ऊँचाई वाला वायुमण्डलीय भाग मध्य मण्डल के नाम से जाना जाता है। इस मण्डल में ऊँचाईके साथ तापमान का ह्रस होता है। यहाँ तापमान -100शष्ट हो जाता है।
(D)तापमण्डल
 तापमण्डल(Thermosphere) -धरातल से 80 किमी. की ऊँचाई से लेकर 640 किमी. तक तापमण्डल का विस्तार है। इस मण्डल में ऊँचाई के साथ तापमान में वृद्धि होती है और इसकी सबसे ऊपरी सीमा पर 1700शष्ट तापमान अनुमानित है।
(E)बाह्यमण्डल
बाह्यमण्डल (Exosphere)-वायुमंडल­ मेंपृथ्वी के धरातल से 640 किमी. के ऊपर बाह्यïमण्डल का विस्तार मिलता है। इसे वायुमण्डल(Atmosphere) का सीमांत क्षेत्र कहाजाता है। इस मण्डल की वायु अत्यंत विरल होती है।ह

 वायुमंडल संगठन / वायुमंडल का संघटन:-

 गैस                         प्रतिशत आयतन

नाइट्रोजन                   78.09
ऑक्सीजन                    20.95
आर्गन                           0.93
कार्बन डाइआक्साइड          0.03
नियोन                            0.0018
हाइड्रोजन                      0.001
हीलियम                         0.000524
क्रिप्टन                          0.0001
ज़ेनान                             0.000008
ओज़ोन                            0.000001

 

DoThe Best
By DoThe Best July 1, 2017 12:53
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

18 + eight =