राजस्थान की चित्रकला

राजस्थान की चित्रकला

राजस्थान की चित्रकला भारतीय चित्रकला में राजस्थानी चित्रकला का विशिष्ट स्थान है, उसका अपना एक अलग स्वरुप है। यहाँ की इस सम्पन्न चित्रकला के तरफ हमारा ध्यान सर्वप्रथम प्रसिद्ध कलाविद् आनन्दकंटका कुमारस्वामी ने अपनी पुस्तक ठराजपूत पेन्टिग’ के माध्यम से

Read Full Article
अलाउद्दीन खिलजी पर निबंध

अलाउद्दीन खिलजी पर निबंध

1. प्रस्तावना: अलाउद्दीन खिलजी एकमात्र ऐसा शासक था, जिसने अपने साम्राज्य के विस्तार, सुरक्षा के साथ-साथ राजस्व व आर्थिक सुधारों हेतु नीतियां संचालित कीं तथा देश को एक सुसंगठित राजनैतिक ढांचे का रूप प्रदान किया । एक स्थायी सेना का

Read Full Article
What are the Functions and Powers of the Indian Parliament?

What are the Functions and Powers of the Indian Parliament?

The main Functions and Powers of the Indian Parliament are : Functions and Powers of the Indian Parliament The Constitution of India enumerates the powers and functions of the Indian Parliament in Chapter II of Part V of the constitution.

Read Full Article

हिन्दू धर्म के सोलह संस्कार (Hindu Dharma Ke Solah Sanskar)

शास्त्रों के अनुसार मनुष्य जीवन के लिए कुछ आवश्यक नियम बनाए गए हैं जिनका पालन करना हमारे लिए आवश्यक माना गया है। मनुष्य जीवन में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सोलह संस्कारों का पालन करना चाहिए। यह संस्कार व्यक्ति

Read Full Article

Rajasthan: Natural Forests

The floral prosperity of Rajasthan state is affluent and diverse. The western part is partly desert terrain; the majority of the vicinity under forests is constrained to Southern and Eastern parts of Rajasthan. The forests in Rajasthan are erratically disseminated

Read Full Article

Rajasthan: Wildlife

The searing, arid weather of Rajasthan, its immense sandy regions, mountainous swathe and plentiful rivers, water bodies and lakes offer sundry habitation conditions apposite for numerous genuses of reptiles which comprises of snakes, crocodiles, turtles and lizards. Two species of

Read Full Article

Public Sector Enterprises in Rajasthan: RIICO

About Rajasthan State Industrial Development & Investment Corporation Ltd.   RIICO is the solitary government organization in Rajasthan implicated in expansion of land for industrial endeavors. Small scale, medium scale and large scale projects get an uncomplicated contact to an

Read Full Article

Rajasthan: Department of Local Self Government

The Department of local self Government is the scheming Department of all towns for all organizational rationale. It also carries out observing and harmonization role at state level for all 184 municipal corporations of Rajasthan state. Department of Local Self

Read Full Article

राजस्थान की नदियां

१) चम्बल नदी –   इस नदी का प्राचीन नाम चर्मावती है। कुछ स्थानों पर इसे कामधेनु भी कहा जाता है। यह नदी मध्य प्रदेश के मऊ के दक्षिण में मानपुर के समीप जनापाव पहाड़ी (६१६ मीटर ऊँची) के विन्ध्यन

Read Full Article

राजस्थान में धार्मिक जागृति के कारण : राजस्थान की धार्मिक पृष्टभूमि

धर्म सदैव भारतीयों की आत्मा का स्वरुप रहा है। राजस्थान प्रदेश भी इस क्षेत्र में कभी पीछे नहीं रहा है। यहाँ के राजपूत शासक अपने धर्म की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगाने को तैयार रहें हैं। यहाँ

Read Full Article

राजस्थान में धार्मिक आन्दोलन के कारण

मध्यकालीन भारत की सर्वाधिक महत्वपूर्ण घटना भक्ति आन्दोलन का प्रबल होना था। कुछ विद्वानों का मानना है कि भक्ति आन्दोलन इस्लाम की देन था, किन्तु दकिंक्षण भारत में यह आन्दोलन छठी शताब्दी से नवीं शताब्दी के बीच प्रारम्भ हो गया

Read Full Article

राजस्थान बहुउद्देश्य नदी घाटी एवं नहर सिंचाई परियोजनाएं

  परियोजना नदी सहभागी राज्य भाखड़ा-नांगल परियोजना सतलज राजस्थान, पंजाब, हरियाणा व हिमाचल प्रदेश व्यास घाटी परियोजना रावी-सतलज-व्यास राजस्थान, पंजाब  व हरियाणा नर्मदा नदी घाटी परियोजना नर्मदा राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात व महाराष्ट्र चम्बल नदी घाटी परियोजना चम्बल राजस्थान व मध्यप्रदेश माही बजाज सागर परियोजना माही राजस्थान व

Read Full Article

राजस्थान की प्रमुख कला एवं सांस्कृतिक इकाइयां

राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृत अकादमी, बीकानेर 25 जनवरी, 1983 राजस्थान ब्रजभाषा अकादमी,जयपुर, 19 जनवरी 1986 राजस्थान हिन्दी ग्रन्थ अकादमी, जयपुर, 15 जुलाई 1969 राजस्थान संस्कृत अकादमी, जयपुर, 1981 अरबी फारसी शोध संस्थान, टोंक, दिसम्बर 1978 राजस्थान सिन्धी अकादमी, जयपुर,

Read Full Article

राजस्थान पशुधन व डेयरी विकास योजनाएं

राजस्थान पशुधन निःशुल्क दवा योजना – 15 अगस्त 2012 से प्रारंभ – उद्देश्य: राज्य के 5.67 करोड़ पशुधन (1.21 करोड़ गाएं, 1.11 करोड़ भैंसें, 2.15 करोड़ बकरियां, 1.11 करोड़ भेड़ें, 4.22 लाख ऊंट आदि) हेतु 110 आवश्यक औषधियों (पहले 87) व

Read Full Article

राजस्थान की जलवायु

राजस्थान की जलवायु शुष्क से उप-आर्द  मानसूनी जलवायु है। अरावली के पश्चिम में न्यून वर्षा, उच्च दैनिक एवं वार्षिक तापान्तर, निम्न आर्द्रता तथा तीव्र हवाओं युक्त शुष्क जलवायु है। दूसरी ओर अरावली के पूर्व में अर्द्धशुष्क एवं उप-आर्द्र जलवायु है।

Read Full Article