राजस्थान में समाज सुधार आंदोलन

राजस्थान में समाज सुधार आंदोलन

राजस्थान में समाज सुधार आंदोलन  (सती प्रथा) ✍यह प्रथा भारत के अन्य क्षेत्रों के साथ राजपूताना में भी प्रचलित थी। *मध्यकाल में मुहम्मद बिन तुगलक और अकबर ने भी इस प्रथा को रोकने का प्रयास किया।* ✍ब्रिटिश काल में सामाजिक

Read Full Article
राजस्थान के प्रमुख दुर्ग

राजस्थान के प्रमुख दुर्ग

राजस्थान के प्रमुख दुर्ग 1. माण्डलगढ़ दुर्ग: यह मेवाड़ का प्रमुख गिरी दुर्ग है। जो कि भीलवाड़ा के माण्डलगढ़ कस्बे में बनास, मेनाल नदियों के संगम पर स्थित है। इसकी आकृति कटारे जैसी है। 2. शेरगढ़ का दुर्ग (कोषवर्धन): यह बारां जिले में परमन

Read Full Article
राजस्थान में किसान आंदोलन

राजस्थान में किसान आंदोलन

राजस्थान में किसान आंदोलन यह आन्दोलन *1897-1941* तक चला  इसे भारत का *पहला अहिंसात्मक किसान आंदोलन* माना जाता है यह राजस्थान का *प्रथम संगठित किसान आंदोलन* था  बिजोलिया वर्तमान में *भीलवाड़ा* जिले में उसकी से इसे *ऊपरमाल की जागीर गांव* कहा जाता था   इस जागीर का संस्थापक *अशोक परमार*था

Read Full Article
राजपूत काल में महिलाओं का योगदान

राजपूत काल में महिलाओं का योगदान

राजपूत काल में महिलाओं का योगदान रूठी रानी*➖ *यों तो रूठी रानी के नाम से उमा दे* को जाना जाता है पर भीलवाड़ा जिले के *मेनाल में रूठी रानी का महल*स्थित है जिसके लिए माना जाता है कि यह महल रानी

Read Full Article
राजस्थान में 1857 की क्रांति के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

राजस्थान में 1857 की क्रांति के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

राजस्थान में 1857 की क्रांति के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य राजस्थान में सबसे अधिक *सुनियोजित सुव्यवस्थित वह सफल विद्रोह* कोटा में हुआ था [?]  *कोटा में सर्वप्रथम*विद्रोहीयो ने कोतवाली में तिरंगा फहराया था [?]  अंग्रेजों ने कोटा महाराव ki salaami *15

Read Full Article
Prithviraj chauhan biography

Prithviraj chauhan biography

 Prithviraj chauhan biography Prithviraj chauhan पृथ्वीराज चौहान (सन् 1178-1192) चौहान वंश के हिंदू क्षत्रिय राजा थे जो उत्तरी भारत में 12 वीं सदी के उत्तरार्ध में अजमेर और दिल्ली पर राज्य करते थे। पृथ्वीराज चौहान का जन्म अजमेर राज्य के राजा

Read Full Article
history of beawar city

history of beawar city

history of beawar city beawar Beawar (pronounced [/bəˈjaːʋər/]) is a city in Rajasthan, India. Beawar was the financial capital of Merwara (मेरवाड़ा) state of Rajputana. As of 2011, the population of Beawar is 342,935.[1] It is located 184 kilometres (114 mi) southwest

Read Full Article
Medieval period in Rajasthan

Medieval period in Rajasthan

Medieval period in Rajasthan Prithviraj Chauhan defeated the invading Muhammad Ghori in the First Battle of Tarain in 1191 and in fifteen further battles before himself being defeated when he was betrayed by one of his own. After the defeat

Read Full Article

हिन्दू धर्म के सोलह संस्कार (Hindu Dharma Ke Solah Sanskar)

शास्त्रों के अनुसार मनुष्य जीवन के लिए कुछ आवश्यक नियम बनाए गए हैं जिनका पालन करना हमारे लिए आवश्यक माना गया है। मनुष्य जीवन में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से सोलह संस्कारों का पालन करना चाहिए। यह संस्कार व्यक्ति

Read Full Article

सामान्य ज्ञान क्विज

भारत में सबसे कम वर्षा वाला स्थान है – लेह बीकानेर जैसलमेर चेरापूंजी उत्तर : लेह भारतीय संविधान के निम्नलिखित भागों में से किस एक में न्यायपालिका तथा कार्यपालिका के पार्थक्य का प्रावधान है? प्रस्तावना मूल अधिकार राज्य के नीति निर्देशक

Read Full Article

फारसी तवारिखे : राजस्थान इतिहास में योगदान

राजस्थान के इतिहास को जानने, राजस्थान के शिलालेखों, ऐतिहासिक काव्य ग्रंथों, कथा साहित्य आदि के ऐतिहासिक विवरणों के क्रम बद्ध करने सत्यापित करने अथवा तथ्यों को लिखने के लिए ऐतिहासिक साहित्य के रुप में फारसी तवारिखें एक महत्वपूर्ण और विश्वसनीय

Read Full Article

राजस्थान में धार्मिक आन्दोलन के कारण

मध्यकालीन भारत की सर्वाधिक महत्वपूर्ण घटना भक्ति आन्दोलन का प्रबल होना था। कुछ विद्वानों का मानना है कि भक्ति आन्दोलन इस्लाम की देन था, किन्तु दकिंक्षण भारत में यह आन्दोलन छठी शताब्दी से नवीं शताब्दी के बीच प्रारम्भ हो गया

Read Full Article

प्रागैतिहासिक राजस्थान की विशेषताएँ

ऐतिहासिक स्रोत तथा भारतीय सभ्यता के विकास में राजस्थान का योगदान – कालीबंगा व आहड़ का सांस्कृतिक राजस्थान का योगदान – कालीबंगा वा आहड़ का सांस्कृतिक महत्व मानव सभ्यता का इतिहास वस्तुत: मानव के विकास का इतिहास है। इस दिशा

Read Full Article

राजस्थान में 1857 के विद्रोह की शुरूआत इस दिन और इस स्थान से हुई

03 जून, नीमच 23 अगस्त, एरिनपुरा 09 अगस्त, अजमेर ✓​ 28 मई, नसीराबाद सबसे पहले नसीराबाद में इस विद्रोह की शुरू आत हुई थी। इसके पीछे मुख्य कारण यह था कि ब्रिटिश सरकार ने अजमेर की 15वीं बंग़ाल इन्फ़ेन्ट्री को नसीराबाद

Read Full Article

राजस्थान की प्रमुख कला एवं सांस्कृतिक इकाइयां

राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृत अकादमी, बीकानेर 25 जनवरी, 1983 राजस्थान ब्रजभाषा अकादमी,जयपुर, 19 जनवरी 1986 राजस्थान हिन्दी ग्रन्थ अकादमी, जयपुर, 15 जुलाई 1969 राजस्थान संस्कृत अकादमी, जयपुर, 1981 अरबी फारसी शोध संस्थान, टोंक, दिसम्बर 1978 राजस्थान सिन्धी अकादमी, जयपुर,

Read Full Article