राजस्थान चर्चित स्थान

DoThe Best
By DoThe Best June 27, 2015 10:34

भारतीय वायुसेना अपनी स्थापना के 80 साल
पूरे होने के उपलक्ष्य में अब तक का सबसे
बड़ा युद्धाभ्यास ‘लाइव वायर’ चलाया –
जोधपुर में
वायुसेना का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास 16 मार्च से 9
अप्रेल तक चला।
इसमें एयर र्फोस की सभी पांच कमान तथा 33
स्क्वाड्रन के लडाकू विमानों ने ताकत दिखाई।
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री राजा परवेज अशरफ 9
मार्च 2013 को राजस्थान के किस स्थान पर
आए- ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह,
अजमेरे।
राजस्थान में पहली बार किस स्थान से
प्राकृतिक गैस का वाणिज्यिक उत्पाकदन शुरू
हुआ है- रागेश्वरी
राज्य में 23 मार्च 2013 को मंगला प्रोसेसिंग
टर्मिनल पर रागेश्वरी फील्ड से प्राकृतिक गैस
का उत्पादन शुरू हो गया है जिसका उद्घाटन
केन्द्रीय पैट्रोलियम व प्राकृतिक गैस
मंत्री वीरप्पा मोइली व राज्य के मुख्यमंत्री अशोक
गहलोत ने किया।
इसी दिन ऐश्वर्या ऑयल फील्ड (बाड़मेर) से तेल
का उत्पादन शुरू हुआ।
राज्य में अभी मंगला, भाग्यम, सरस्वती,
रागेश्वरी और ऐश्वर्या ऑयल फील्ड है।
सर्वाधिक ऑयल मंगला ऑयल फील्ड से निकल
रहा है।
7 मार्च 2013 को इजराइल के सहयोग से
नवीनतम तकनीक का अनार उत्पादन केन्द्र शुरू
हुआ है- बस्सी (जयपुर)
बस्सी के ढिढोल गांव में अनार उत्क़ृष्टता केन्द्र के
भवन का शिलान्यास कृषि मंत्री हरजीराम बुरडक ने
किया।
इस मौके पर इजरायली राजदूत अलोन उपसिज मौजूद
थे।
इजरायल के कृषि नवाचारों का नजारा अब राजस्थान
में भी देखने को मिलेगा।
इसी तरह के केन्द्र नांता (कोटा) में नींबू व संतरा,
जैसलमेर में खजूर की अत्याधुनिक कृषि तकनीक
प्रयोगशाला स्थापति होंगी।
25 मार्च से 25 अप्रेल 2013 तक
अन्तराष्ट्रीय मोन्यूमेंट स्टोन स्कल्पचर
सिंपोजियक का आयोजन पहली बार
कहॉं हो रही है – शिल्पग्राम, उदयपुर में
इसमें जापान, इटली, न्युजीलैण्ड और भारत के कई
अन्तराष्ट्रीय शिल्पकार अपनी कलाकृतियॉं तैयार
करेंगे।
लेक सिटी (उदयपुर) में भी अब ओपन एयर
स्कल्पचर मयूजियम बनाने की तैयारी चल रही है।
8-9 मार्च, 2013 को पूर्व नरेश गजसिंह
की ओर से शाही नीलामी का आयोजन
कहॉं किया गया – उम्मेद भवन, मेहरानगढ़ दुर्ग
जोधपुर में
शाही नीलामी की एंट्रीफीस 30 लाख व 15 लाख
रूपए रखी गई। यह फीस इंडियल हेड
इंजरी फाउण्डेशन की सहायतार्थ डोनेशन के रूप में
ली गई।
नीलामी में देश-विदेश के नामी आर्टिस्ट की हेरिटेज
पेंटिग्स की बोली लगाई इसमें प्रिंस एंड्रयू (ब्रिटेन),
बॉलीवुड सितारे, मुकेश अंबानी जैसे गणमान्य लोगों ने
भाग लिया।
23मार्च 2013 को कवास स्थित किन तेल
क्षेत्रों से तेल गैस उत्पादन का शुभारम्भ हुआ
– एश्वर्या व रागेश्वरी
एश्वर्या तेल क्षेत्र में तेल उत्पादन शुरू हो चुका है
जबकि रागेश्वरी से गैस का व्यावसायिक उत्पादन
शुरू हुआ है।
एश्वर्या से इस साल के अन्त तक प्रतिदिन
25000 बैरल तेल उत्पादन शुरू हो जाएगा।
एम.बी.ए. मंगला, भाग्यम् और एश्वर्या तीनों तेल
कुओं कि इस तिकड़ी को एम.बी.ए. के नाम से
जाना जाएगा।
11 मार्च 2013 को राजस्थान के किस स्थान
पर दक्षिण कोरियाई क्षेत्र बनाने के लिए
एम.ओ.यू. हुआ है – नीमराणा
राजस्थान देश का ऐसा पहला राज्य है
जहॉं दो देशों के विशेष आर्थिक निर्माण जोन होंगे।
वर्ष 2008 में नीमराणा में ही जापानी इन्वेस्टमेंट
जोन बनाया गया था।
उक्त कोरियाई जोन में इलेक्ट्रानिक के साथ
सभी प्रकार के उद्योग स्थापित होंगे।
एशिया की सबसे बड़ी फील्ड फायरिंग रेंज
जिसको ‘वास्तविक रण क्षेत्र’
बनाया जाएगा – पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज
एशिया की सबसे बड़ी पोकरण फील्ड फाररिंग रेंज में
वास्तविक रणक्षेत्र बनेगा। रक्षा मंत्रालय ने हाल
में बजट में इसके लिए 40 करोड़ रूपए स्वीकृत किए
हैं। पोकरण रेंज के अलावा मध्यप्रदेश
की बबीना फायरिंग रेंज का भी आधुनिकीकरण कर उसे
विश्वसतरीय रेंज के रूप में विकसित किया जाएगा।
पोकरण रेंज को ट्रेनिंग फील्ड के रूप में विकसित
किया जाएगा। आने वाले एक-दो साल में इन दोनों रेंज
का आधुनिकीकरण होने के बाद बीकानेर स्थित
महाजन फील्ड फायरिंग रेंज को भी अंतरराष्ट्रीय
स्तर का बनाया जाएगा।
केन्द्र सरकार ने तेल उत्पादन के लिहाज से
राजस्थान को किस श्रेणी में रखा है – प्रथम
श्रेणी
अभी तक राजस्थान तेल उत्पादन में तृतीय
श्रेणी राज्यों में शामिल था लेकिन हाल ही कि तेल
खोजों ओर ‘मंगला’ से तेल उत्पादन को देखते हुए
राजस्थान को मुम्बई हाई, असम, गुजरात के
समकक्ष माना गया है।
फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इण्डिया की वर्ष 2011
की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में घना वन
क्षेत्र मौजूद है- 4520 वर्ग किमी

DoThe Best
By DoThe Best June 27, 2015 10:34
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

3 × 4 =