शक़ राजवंश

DoThe Best
By DoThe Best October 2, 2015 14:07

शक़ प्राचीन ईरान के घुड़ सवार ख़ानाबदोश थे| इन्होंने भारत में हिंद-यूनानी शासन का अंत किया| शक़ उनका संस्कृत नाम था| यह मध्य एशिया के ख़ानाबदोश जनजातियों से हारने के बाद भारतीय उपमहाद्वीप की ओर आए थे| शकों के प्रारंभिक शासक मुएस थे| जिसने लगभग 80-60 ई. पू. मे शासन किया| इसकी सत्ता गंधार क्षेत्र में स्थापित हुई थी तथा इसकी राजधानी सिर्कप थी|

इसने महाराज एवं महात्मा की उपाधि धारण की तथा बड़ी मात्रा में तांबे की सिक्के चलाए| इसके सिक्कों पर भारतीय देवताओं शिव व बुद्ध की आकृति बनी हुई है तथा भाषा ग्रीक व खरोष्ठी है|

मोग अभिलेख क्या हैं:

इनका संबंध तक्षशिला के ताम्र पत्र से है| इसे खरोष्ठी लिपि में लिखा गया तथा ऐसा उल्लेख है की इसे बौद्ध मठ को भगवान बुद्ध के प्रति शक़ शासक पातिका कुसुलका द्वारा दान में दिया गया| पातिका कुसुलका का उल्लेख मथुरा से प्राप्त सिंह स्तंभ पर भी है|

मौएस के वंशज

इसके सभी वंशजों में आइज़-1 सबसे महत्वपूर्ण शासक था| इसने हिंद-यूनानियों को पराजित कर आइज काल की स्थापना की| आइज-2 इस वंश का अंतिम शासक माना गया|

DoThe Best
By DoThe Best October 2, 2015 14:07
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

four × 4 =