Back to homepage

Tag "india history"

मराठों का उत्थान

मराठों का उत्थान

मराठों का उत्थान महाराष्ट्र में रहने वाले और मराठी बोलने वाले भारतवासी मराठा कहलाते हैं. महाराष्ट्र प्रदेश एक त्रिभुजाकार पठार और चारों ओर पहाड़ों से घिरा हुआ है. यह प्रदेश पहाड़ों, वनों और अनेक स्थानों पर ऊबड़-खाबड़ होने के कारण

Read Full Article
बिंदुसार (298 ई.पू. – 273 ई.पू.) का जीवन

बिंदुसार (298 ई.पू. – 273 ई.पू.) का जीवन

बिंदुसार (298 ई.पू. – 273 ई.पू.) का जीवन चन्द्रगुप्त के बाद उसका पुत्र बिंदुसार (Bindusara) सम्राट बना. आर्य मंजुश्री मूलकल्प के अनुसार जिस समय चन्द्रगुप्त ने उसे राज्य दिया उस समय वह अल्प-व्यस्क था. यूनानी लेखकों ने उसे अमित्रोचेडस (Amitrochades)

Read Full Article
सिख धर्म का संक्षिप्त इतिहास और व्यापक जानकारी

सिख धर्म का संक्षिप्त इतिहास और व्यापक जानकारी

सिख धर्म का संक्षिप्त इतिहास और व्यापक जानकारी सिख धर्म के लोग गुरुनानक देव के अनुयायी हैं. गुरुनानक देव का कालखंड 1469-1539 ई. है. सिख धर्म के लोग मुख्यतया पंजाब में रहते हैं. वे सभी धर्मों में निहित आधारभूत सत्य में

Read Full Article
भारत के ऐतिहासिक स्थल

भारत के ऐतिहासिक स्थल

भारत के ऐतिहासिक स्थल  भारत 1. मोहनजोदड़ो (Mohenjo-daro) मोहनजोदड़ो का शाब्दिक अर्थ है मृतकों का टीला. इसे सिंध का नखलिस्तान  या सिंध का बाग़  भी कहते हैं. मोहनजोदड़ो सिंध प्रांत के लरकाना जिले (पाकिस्तान) में सिन्धु नदी के तट पर स्थित है. इसकी

Read Full Article
सम्राट अशोक के विषय में व्यापक जानकारी, कलिंग आक्रमण और शिलालेख

सम्राट अशोक के विषय में व्यापक जानकारी, कलिंग आक्रमण और शिलालेख

सम्राट अशोक के विषय में व्यापक जानकारी, कलिंग आक्रमण और शिलालेख अशोक (लगभग 273-232 ई.पू.) मौर्य वंश का तीसरा सम्राट था. मौर्य वंश के संस्थापक उसके पितामह चन्द्र गुप्त मौर्य (लगभग 322-298 ई.पू.) थे. चन्द्रगुप्त मौर्य के बाद उसका पिता

Read Full Article
बुद्ध के उपदेश

बुद्ध के उपदेश

बुद्ध के उपदेश बुद्ध ने बहुत ही सरल और उस समय बोली जाने वाली भाषा पाली में अपना उपदेश दिया था. यदि आपको परीक्षा में सवाल आये कि बुद्ध ने उपदेश किस भाषा में दिया था तो उसका उत्तर पाली

Read Full Article

1857 की क्रांति : महत्त्वपूर्ण जानकारी

1857 १८५७ का भारतीय विद्रोह, जिसे प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, सिपाही विद्रोह और भारतीय विद्रोह के नाम से भी जाना जाता है ब्रितानी शासन के विरुद्ध एक सशस्त्र विद्रोह था। यह विद्रोह दो वर्षों तक भारत के विभिन्न क्षेत्रों में

Read Full Article