देशभर में कहीं भी जाएं, नहीं बदलना होगा मोबाइल नंबर

DoThe Best
By DoThe Best July 3, 2015 10:49

देशभर में कहीं भी जाएं, नहीं बदलना होगा मोबाइल नंबर

दूरसंचार कंपनियों ने पूरे देश में मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी (एमएनपी) शुरू कर दी है जिससे अब उपभोक्ताओ को दूसरे राज्य या सर्किल में जाने पर भी नंबर बदलने की जरूरत नहीं होगी और पुराना नंबर काम करता रहेगा। देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनियों एयरटेल, रिलायंस, एमटीएस और वोडाफोन ने कल (3 जुलाई) से देशभर में मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी शुरू करने की घोषणा की है।

पहले एमएनपी को 3 मई से इसे लागू करना था, लेकिन उनके द्वारा विवशता जाहिर किए जाने पर 3 जुलाई से इसे शुरू करने का निर्देश दिया गया था। एक सर्किल के भीतर एमएनपी 20 जनवरी 2011 को शुरू हो गया था।

भारती एयरटेल की सबसे पहले घोषणा

दूरसंचार क्षेत्र की देश की सबसे बड़ी निजी कंपनी भारती एयरटेल ने राष्ट्रीय मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी (एमएनपी) शुरू करने की गुरूवार को घोषणा की और कहा कि इसके तहत अब उसके उपभोक्ता पूरे देश में एक ही नंबर को रख सकेंगे। इसके साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर एमएनपी शुरू करने वाली एयरटेल पहली कंपनी बन गई है।

कंपनी ने जारी बयान में कहा कि पूरे देश में किसी भी राज्य में जाने पर उपभोक्ता पुराना नंबर ही रख सकेंगे और एयरटेल के नेटवर्क पर 24 घंटे के भीतर पोर्टिग आवेदन पर कार्रवाई शुरू हो जाएगी तथा इस दौरान उपभोक्ता को फ्री रोमिंग की सुविधा मिलेगी। एयरटेल ने कहा कि इस दौरान प्रीपेड ग्राहको का बैलेंस भी यथावत बना रहेगा और पोस्टपेड उपभोक्ता का बिल भुगतान नए स्थान पर हस्तातंरित कर दिया जाएगा।

जम्मू कश्मीर और पूर्वाेत्तर में नहीं मिलेगी सुविधा

हालांकि कंपनी ने कहा कि सुरक्षा कारणो से जम्मू कश्मीर और पूर्वाेत्तर में यह सुविधा नहीं मिलेगी। कंपनी के बाजार परिचालन के निदेशक अजय पुरी ने कहा कि आज न सिर्फ मोबाइल फोन हमारे जीवन का आवश्यक हिस्सा बन चुका है, बल्कि मोबाइल नंबर हमारी पहचान बन चुकी है। उनकी कंपनी अब पूरे देश में मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी शुरू करने के लिए तैयार है जिसका उद्देश्य ग्राहको को पूरे देश में उस की एक ही पहचान बनाए रखाना है। उन्होंने कहा कि इसके लिए एयरटेल उपभोक्ताओं को अपने नए निवास के नजदीकी एयरटेल आउटलेट पर जाकर एमएनपी प्रक्रिया को पूरा करना होगा। इसके लिए आनलाइन या काल सेंटर में पूरी जानकारी हासिल की जा सकती है।

वोडाफोन ने भी शुरू की एमएनपी

प्रमुख दूरसंचार कंपनी वोडाफोन इंडिया ने राष्ट्रीय मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एनएमएनपी) सेवा शुरू कर दी है। कंपनी ने प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि सरकार के आदेश के अनुरूप यह सेवा शुक्रवार से शुरू हो जाएगी। उसने बताया कि एनएमएनपी सेवा प्रीपेड और पोस्टपेड दोनों तरह के ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगी। ग्राहक अपना सर्किल बदलने के साथ ही ऑपरेटर भी बदल सकते हैं। कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी विवेक माथुर ने इस पहल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “एनएमएनपी सेवा से सबसे ज्यादा लाभ ग्राहकों को होगा। एक ही सर्किल के तहत ऑपरेटर बदलने की सुविधा 2011 में शुरू होने के बाद वोडाफोन को इसका लाभ मिला है और हम इस बार भी वैसे ही प्रतिसाद की उम्मीद कर रहे हैं।”

रिलायंस, एमटीएस भी एमएनपी के साथ

रिलायंस ने बयान जारी कर कहा है कि वह 3 जुलाई से देशभर में नंबर पोर्टिबिलिटी की सेवा करने के लिए तैयार है। इसके साथ ही कंपनी पोस्टपेड और प्रीपेड मोबाइल धारकों के लिए आकर्षक और प्रतिस्पर्धी प्लान भी लेकर आएगी।

एमटीएस इंडिया ने भी पूरे देश के लिए मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी सेवा में जुडऩे की घोषणा की है। एमटीएस ने अपने बयान में कहा है कि इससे एमएनपी से देश के टेलिकॉम सेक्टर और ग्राहक सेवा में नए प्रतिमान स्थापित होंगे।

ऐसे होगा मोबाइल नंबर पोर्ट

मोबाइल नंबर पोर्ट करने के लिए अपने फोन से PORT<मोबाइल नंबर> लिखकर 1900 पर एसएमएस करना होगा। इसके बाद आपको 8 डिजिट का अल्फा-न्युमरिक यूनिक पोर्ट कोर्ड (यूपीसी) मिलेगा। इस यूपीसी के साथ पसंदीदा नेटवर्क प्रोवाइडर के पास जाएं। एमएनपी फॉर्म भरें और जरूरी दस्तावेज दें। सिम कार्ड खरीदें और पोर्टेबिलिटी चार्ज दें। नए नेटवर्क प्रोवाइडर से आपको पोर्टिंग का समय और तारीख का एसएमएस मिलेगा। इसके बाद 2 घंटे का नो सर्विस पीरियड होगा, जिसके बाद नया सिम एक्टिवेट हो जाएगा। यूजर के खाते से 19 रुपये लिए जाएंगे।

DoThe Best
By DoThe Best July 3, 2015 10:49
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

<

20 − 4 =