अमलेंदु कृष्णा वर्ष 2015 के रामानुजन पुरस्कार से सम्मानित

DoThe Best
By DoThe Best August 5, 2015 14:53

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फंडामेंटल रिसर्च(टीआईएफआर) के अमलेंदु कृष्णा को 3 अगस्त 2015 को वर्ष 2015 के रामानुजन पुरस्कार से सम्मानित किया.
डॉ कृष्णा को एल्ज़ेब्रिक के थ्योरी, एल्ज़ेब्रिक साइकिल और थ्योरी ऑफ़ मोटिव्स में उनके योगदान के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
यह पुरस्कार संयुक्त रूप से द एब्डस सलम इंटरनेशनल सेंटर फॉर थ्योरेटिकल फिजिक्स, डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी (डीएसटी, गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया), इंटरनेशनल मैथेमेटिकल यूनियन(आई एमयू) प्रदान किया गया है.

अमलेंदु कृष्णा के बारे में

• डॉ. कृष्णा ने वर्ष 2001 में टीआईएफआर, मुंबई से अपनी पीएचडी की डिग्री प्राप्त की.
• वर्ष 2001 से 2004 तक लॉस एंजिल्स में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में हेडरिक सहायक प्रवक्ता(गणित) के पद पर कार्यरत रहे.
• वह वर्ष 2004 से 2005 तक इंस्टिट्यूट ओड एडवांस स्टडी इन प्रिंसटन, न्यू जर्सी के स्कूल ऑफ़ मैथेमेटिक्स के सदस्य बने.

रामानुजन पुरस्कार के बारे में

• यह पुरस्कार प्रत्येक वर्ष गणित के क्षेत्र में योगदान देने वाले विकासशील देश के युवा गणितज्ञ को दिया जाता है.
• यह प्रत्येक वर्ष आईसीटीपी, नील्स हेनरिक हाबिल मेमोरियल फंड, और अंतरराष्ट्रीय गणितीय संघ द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जाता है.
• वर्ष 2012 से एबिल फंड की सदस्यता इससे समाप्त हो गई.
• भारत सरकार का विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग वर्ष 2014 से 5 वर्ष की अवधि तक पुरस्कार निधि में योगदान दे रहा है.
• यह पुरस्कार उन गणितज्ञों को प्रदान किया जाता है जिनकी आयु 31 दिसंबर(जिस वर्ष पुरस्कार प्रदान किया जाना हो) को 45 वर्ष से कम हो.
• पुरस्कार के रूप में 15000 यूएस डॉलर की नकद राशि प्रदान की जाती है.

DoThe Best
By DoThe Best August 5, 2015 14:53
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

<

three × three =