धोनी ब्रिगेड के लिए क्यों जरूरी थी जीत, क्या पड़ेगा टीम पर असर

DoThe Best
By DoThe Best October 15, 2015 12:18

धोनी ब्रिगेड के लिए क्यों जरूरी थी जीत, क्या पड़ेगा टीम पर असर

टीम इंडिया ने 5 मैचों की सीरीज के दूसरे वनडे में साउथ अफ्रीका को 22 रन से हरा दिया। बुधवार को इंदौर में मिली इस जीत से सबसे ज्यादा राहत कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को मिली। पहले नॉट आउट 92 रन बनाकर टीम को 247 रन तक पहुंचाया। फिर बॉलर्स का सही इस्तेमाल कर साउथ अफ्रीका को 225 रन पर ऑल आउट कर दिया। सीरीज अब 1-1 से बराबर है।
दिखा हेलिकॉप्टर शॉट…
सबसे बड़ी बात यह रही कि धोनी जिस बैटिंग स्टाइल के लिए जाने जाते हैं, वह इस इनिंग में दिखी। उन्होंने हेलिकॉप्टर शॉट और बैकफुट पंच जमकर लगाए। धोनी की बैटिंग को देखकर ऐसा लग ही नहीं रहा था कि यह वही बैट्समैन है, जो पिछले मैच में एक बाउंड्री लगाने के लिए भी स्ट्रगल कर रहा था। इस मैच में 30 ओवर तक भारत का स्कोर 6 विकेट पर 125 रन था। इसके बाद भारत ने अगले 20 ओवर में 122 रन बना डाले। इन 122 रन में धोनी का स्कोर 74 रन रहा। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि धोनी विरोधियों को जवाब देने के लिए कितने बेचैन थे।
> क्यों जरूरी थी यह जीत?
* धोनी के करियर को मिल सके लाइफलाइन
* साउथ अफ्रीका को सबक
* माहौल बदलने के लिए पॉजिटिव न्यूज
* रैंकिंग रहे बरकरार
> क्या पड़ेगा टीम पर असर?
* खिलाड़ियों का कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ेगा
* फ्रेंडली माहौल बनेगा, दिलचस्पी रहेगी बरकरार
* आउट ऑफ फॉर्म प्लेयर्स को मिलेगी मदद
यह जीत धोनी के कप्तानी करियर के लिए बहुत जरूरी थी। माहौल जिस तरह से बन रहा था और सीनियर्स विराट को कप्तानी सौंपने की बात कर रहे थे, उससे साफ जाहिर था कि अगर टीम इंडिया यह मैच भी हार जाती तो धोनी से कप्तानी छिन सकती थी। एक और हार से सीरीज तो हारते ही, साथ ही वे भरोसा भी खो देते। बांग्लादेश में वनडे सीरीज और फिर साउथ अफ्रीका से टी-20 सीरीज हार के बाद लगातार धोनी सबके निशाने पर थे। ऐसे में, यह जीत धोनी की कप्तानी के लिए लाइफलाइन की तरह साबित हुई है। सबसे बड़ी बात यह रही कि खुद धोनी ने मुश्किल वक्त में धमाकेदार 92 रन बनाकर विरोधियों को करारा जवाब दिया है।
DoThe Best
By DoThe Best October 15, 2015 12:18
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

<

four + one =