PM मोदी लेंगे कड़े फैसले, एक BJP MP की होगी छुट्टी

DoThe Best
By DoThe Best November 3, 2015 12:04

PM मोदी लेंगे कड़े फैसले, एक BJP MP की होगी छुट्टी

बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम आने से पहले ही केंद्र सरकार और भाजपा के अंदर खासी हलचल है। कई तरह के कयास हैं। सूत्रों की मानें तो बिहार के नतीजे कुछ भी आएं, पीएम नरेंद्र मोदी सरकार और संगठन दोनों की छवि सुधारने के लिए कई कड़े कदम उठा सकते हैं। इसमें बागी तेवरों वाले और निष्क्रिय व प्रभावहीन नेताओं को संगठन व सरकार से बाहर किया जाएगा। सरकार के स्तर पर उठाए जाने वाले छवि सुधार कार्यक्रम भी तय हो गए हैं।

सरकार की छवि पर उठ रहे सवालों से मोदी दबाव में हैं। वे सरकार विरोधी माहौल से चिंतित हैं। इस बीच बिहार से आ रही नकारात्मक खबरों ने परेशानी और बढ़ा दी। वहां के नतीजे का सीधा असर उनकी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की छवि पर पड़ेगा। उनके कहने पर ही लोकसभा चुनाव के बाद शाह को अध्यक्ष बनाया गया था। पार्टी नेताओं का मानना है कि मोदी के धुआंधार प्रचार के बावजूद बिहार में भाजपा की सरकार नहीं बनी तो बड़ा कारण शाह का व्यवहार होगा। पार्टी का मानना है कि 2016 के विधानसभा चुनाव वाले अधिकांश राज्यों में भले ज्यादा उम्मीदें नहीं हों लेकिन वहां मजबूत सहयोगियों का जुड़ाव बिहार के नतीजों ओर नेतृत्व के व्यवहार से प्रभावित होगा।

एक सांसद का निष्कासन संभव

सूत्रों की मानें तो सबसे पहले बागियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने की तैयारी है। कोई नया पेंच नहीं आया तो अंतिम चरण के मतदान के ठीक बाद एक सांसद का निष्कासन किया जाएगा। अफसर से राजनेता बने अन्य सांसद सहित दो पूर्व केंद्रीय मंत्रियों को पार्टी से निलंबित किया जा सकता है। प्रधानमंत्री अपने कार्यालय के कु छ आला अधिकारियों सहित वरिष्ठ सहयोगियों के महकमे भी बदलने की तैयारी में है। कुछ को बाकायदा नई जिम्मेदारी के साफ संकेत भी दिए जा चुके हैं।

फेरबदल के पीछे आगामी चुनाव

सारे फेरबदल अगले साल असम, केरल, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी के विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर होंगे। असम को छोड़ पार्टी को बड़ी उम्मीद नहीं है पर इनके नतीजे 2017 के प्रस्तावित यूपी, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनाव पर असर दिखाएंगे। केंद्र सरकार आधारभूत ढांचा, ऊर्जा और श्रम सुधारों के क्षेत्र में भी बड़े कदम उठाने की तैयारी में है।

DoThe Best
By DoThe Best November 3, 2015 12:04
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

<

eighteen − five =