शाहजहां के पुत्र

DoThe Best
By DoThe Best June 11, 2015 14:52

शाहजहां के चार पुत्र थे, जिनके नाम थे- औरंगजेब, दारा शिकोह, शाह शुजा और मुराद बख्श.

औरंगजेब

औरंगजेब का पूरा नाम मोहिउद्दीन  मुहम्मद औरंगजेब था. वह 1618 ईस्वी में पैदा हुआ था और शाहजहां के शासन के दौरान दक्कन का गवर्नर था.

1647 ईस्वी में, उसे हिन्दुकुश  के पार स्थित बल्ख और बदख्शां  के प्रांतों की कमान लेने के लिए अपने पिता द्वारा आदेश दिया गया था. यह क्षेत्र अभी हाल ही में उज्बेगो  द्वारा विजित किया गया था. हालांकि, इस अभियान में उसे भारी नुकसान का सामना करना पड़ा और किसी तरह उसने अपनी पकड़ बनाए रखने में सफलता प्राप्त की.

उसने 1649 ईस्वी और 1652 ईस्वी में कंधार को दुरुस्त करने की कोशिश की लेकिन अपने प्रयासों में विफल रहा. हालांकि, इन विफलताओं की वजह नें उसे एक बेहतर शासक और चालाक प्रशासक बनाने में बेहतर भूमिका निभाई. साथ ही वह लम्बे समय तक एक बेहतर प्रशासक बना रहा.

1655 ईस्वी में उसे दक्कन भेजा गया. इस अभियान में उसने बीजापुर और गोलकुंडा के खिलाफ अत्यधिक सफलता प्राप्त की. लगभग इसी समय शाहजहाँ बीमार पड़ गया और औरंगजेब को आगरा वापस बुलाया गया था.

दारा शिकोह

दारा शिकोह अपने पिता का सबसे प्रिय पुत्र था. वास्तव में वही दिल्ली के सिंहासन का वास्तविक उत्तराधिकारी था. वह सभी धर्मों के सौहार्दपूर्ण सहअस्तित्व में विश्वास करता था. वह एक विद्वान और बौद्धिक इन्सान था. उसे फ़ारसी में संस्कृत के 50 उपनिषदों का अनुवाद करने का श्रेय दिया जाता है. उसके इस काम या संग्रह को सिर्र-ए-अकबर के नाम से जाना जाता है. इनमें सबसे प्रमुख मुकता उपनिषद है. यह सिद्धांत 108 उपनिषदों का संग्रह था.

शाह शुजा

शाह शुजा शाहजहाँ का दूसरा पुत्र था. वह  बंगाल और उड़ीसा का प्रभारी था. वह, बांग्लादेश के ढाका में बारा कटरा नामक स्थल पर निवास करता था.

मुराद बख्श

यह शाहजहां का सबसे छोटा पुत्र था और शाहजहां के शासन के दौरान गुजरात का गवर्नर था.

DoThe Best
By DoThe Best June 11, 2015 14:52
Write a comment

No Comments

No Comments Yet!

Let me tell You a sad story ! There are no comments yet, but You can be first one to comment this article.

Write a comment
View comments

Write a comment

<

2 × 4 =